Hindi Love Shayari in 2019 Best True Love shayari

Share:

१. 
बहुत सकून मिलता है जब हमारी उनसे बात होती है
वो हजारो रातो में वो एक रात होती है 
जब निगाहे उठा कर देखते है वो  मेरी तरफ 
तब वो  ही पल मेरे लये पूरी कयनाथ होती है.  




२. 
आग लगी दिल में जब वो खफा हुए 
अहसास हुआ तब जब जुदा हुए 
करके वफ़ा वो हमें कुछ दे न सके 
लेकिन दे गए बहुत कुछ जब वो बेवफा हुए 



३. 
दिल का हाल बताना नहीं आता 
हमें ऐसे किसी को तड़पना नहीं आता 
सुनना  तो चाहते है हम उनकी आवाज को 
पर हमें कोई बात करने का बहाना नहीं आता 




४. 
जब खामोस निगाहो से बात होती है 
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है 
हम तो बस खोये ही रहते है उनके खयालो में 
पता ही नहीं चलता कब दिन कब रात होती है





५.
हक़ीक़त कहो तो उनेह ख्वाब लगता है 
सिकवा करो तो उनेह मजाक लगता है 
कितनी सिदधत  से उनेह याद करते है 
और एक वो है जिन्ह ये सब मजाक लगता है




६.  
तेरी मोहब्बत ने हमें बेनाम  कर दिया 
हमें हर खुसी से अंजान  कर दिया 
हमने तो कभी नहीं चाहा था की हमें मोहब्बत हो 
लेकिन उसकी पहेली नजर में हमें नीलम कर दिया 





७.
इस नजर ने उस नजर से बात करली 
रहे खामोस लेकिन फिर भी बात कर ली 
जब मोहब्बत की फ़िज़ा को खुस पाया 
तो दोनों निगाहो ने रो रो कर बरसात करदी  



८. 
तुझे देख कर ये जहा रंगीन नजर आता है 
तेरे बिना दिल को चेन कहा आता है 
तू ही है इस दिल की धड़कन 
तेरे बिना ये जहाँ बेकार लगता है 



 तू तोड़ दे कसम जो तूने खायी है 
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है 
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नहीं जाता 
तूने दिल में जो जगह बनायीं है 



१०.  
इस्क़ सभी को जीना सिंह देता है 
 नाम पर मरना सीखा देता है 
इस्क़ नहीं किया तो करके देखना 
जालिम हर दर्द सहना सीखा दिया
  


११. 
आपकी परछाई हमारे दिल में है 
आपकी यादे हमारी आखो में है 
आपको हम भुलाये भी कैसे 
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में है  



१३.  
अब हम भी कुछ मोहब्बत के गीत गुनगुनाने लगे 
जब से वो हमारे ख्वाबो में आने लगे  




१४. 
 आप दिल से दूर है और पास भी 
आप लबो की हसी हो और आसु भी 
आप दिल का सुकून हो और बेचैनी भी 
आप हमारी अमानत हो और एक सपना भी 




१४. 
कर दे नज़रे मुझपे 
में तुझ पे ऐतबार कर दू 
दीवाना हु ऐसा तेरा 
की दीवानगी की हद को पार कर दू



१५. 
इस्क़ में कहा कोई 
वसूल होता है 
यार चाहे जैसा भी हु बस 
कुबुल  होता है 


१६. 
न कोई किसी से दूर होता है 
न कोई किसी के करीब है 
वो खुद चलके आते है 
जो जिसका नसीब होता है 

 
 

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();