Top 30+ Motivational shayari with love shayari in hindi 2019| मोटिवेशनल शायरी

Share:


एक सिलसिले की उम्मीद थी जिनसे 
वही फासले बनाते गये 
हम तो पास आने की कोशिस मैं थे 
ना जाने क्युँ वो हमसे दूरियाँ बढ़ाते गये  


मानते है सारा जहाँ तेरे साथ होगा 
ख़ुशी का हर लम्हा तेरे पास होगा 
जिस दिल टूट जाएँगी सांसे हमारी 
उस दिन तुझे हमारी कमी का एसएस होगा 


तुम ने चाहा ही नहीं हालात बदल सकते थे 
तेरे आंसू मेरी आँखों से निकल सकते थे 
तुम तो ठहरे रहे झील के पानी की तरह 
दरिया बनते तो बहुत दूर निकल सकते थे 


एक दिन हम तुम से दूर हो जायेंगे 
अँधेरी गलियों मैं यूं ही खो जायेंगे 
आज हमारी फिक्र नहीं है तुमको 
कल से हम भी बेफिकर्स हो जायेंगे 


नज़र चाहती है दीदार करना 
दिल चाहता है प्यार करना 
क्या बताएं इस दिल का आलम 
नसीब मैं खिला हैं इन्तजार करना 


मोहब्बत नहीं है कोई किताबी बाते 
सकोगे जब रो कर कुछ काटोगे राते 
जो चोरी हो गया तो पता चला दिल था
हमारा करते थे हम भी कभी किताबी बाते 


मोहब्बत का मेरा यह सफर आखिरी है 
ये कागज ये कलम ये गजल आखिरी है 
फिर ना मिलेंगे अब तुमसे हम कभी 
क्योकि तेरे दर्दका अब ये सितम आखिरी है 


मोहब्बत मुकद्दर है एक ख्वाब नहीं 
ये वो अदा है जिसमे सब कामयाब नहीं 
जिन्हे पनाह मिली उन्हें उनका कोई हिसाब नहीं 



मोहब्बत का इम्तिहान आसान नहीं 
प्यार सिर्फ पाने का नाम नहीं 
मुद्द्ते बीत जाती है किसी के इंतजार मैं 
ये सिर्फ पल-दो-पल का काम नहीं 


खता हो गयी तो सजा बता दो 
दिल मैं इतना दर्द क्यों है वजह बता दो 
देर हो गयी है याद करने मैं जरूर 
लेकिन तुमकलो भुला देंगे ये ख्याल दिल से मिटा दो 


बिना ख्वाबो के भी कभी कोई सो पाया है क्या 
बिना महबूब की यादों के कहीं कोई खो पाया है 
तुम तो मेरी धड़कन मेरी सांसे हो सनम 
दिल भी कभी धड़कनो से जुड़ा हो पाया है क्या 


कभी किसी से जिक्र ए जुदाई मत करना 
मगर इस दिल से कभी रुसवाई मत करना 
जब दिल भर जाए तो मुझे बता देना ना 
बता कर केरी जान मुझसे बेवफाई मत करना 


न जाने क्यों उससे प्यार करता हूँ मैं 
न जाने क्यों उस पर जान निसार करता हूँ 
ये जानते हुए भी की वो धोखा देगी एक दिन 
फिर भी न जाने क्यों उस पर ऐतबार करता हूँ मैं 


तुम्हें पता है मोहब्बत करने वालों का यहीं हथ 
होता है दर्द-ए-दिल होता है दर्द-ए-जिगर होता है 
खामोश होंठ कुछ ना कुछ गुनगुनाते ही रहते है 
झुकी निगाहों का भी गहरा असर होता है 


देख कर मेरा नसीब मेरी तकदीर रोने लगी 
लहू के अल्फाज देख कर तहरीर रोने लगी 
हिज़्र मैं दीवानो की हालत कुछ ऐसी हुई 
सूरत को देखकर खुद तस्वीर रोने लगी 


आपकी मुस्कान हमारी कमजोरी है 
कह ना पाना हमारी मजबूरी है 
आप क्यों नहीं समझते इस जज्बात को 
क्या खामोशियाँ को जुबान देना जरूरी है 


मोहब्बत तो सिर्फ एक इत्तेफाक है 
ये तो दो दिलों कि मुलाकात है 
मोहब्बत ये नहीं देखती  की दिन है या रात है 
इसमें सिर्फ वफ़ादारी और जज्बात है 


जिसे पाया ना जा सके वो जनाब हो तुम 
मेरी जिंदगी का पहला ख्वाब हो तुम 
लोग चाहे कुछ भी कहें 
लेकिन मेरी जिंदगी का एक सुन्दर सा 
गुलाब हो तुम 


 ना जाने क्यूँ आपकी याद आती है 
होटों पर आपकी ही बात आती है 
बैठे हो जब भी दो पल अकेले मैं 
याद बस वही पहली मुलाकात आती है 


मेरी दिवानगी की कोई हद नहीं 
तेरी सूरत के शिव मुझे कुछ याद नहीं 
तू गुलाब है मेरी गुलशन का 
तेरे शिवाय मुझपर किसी का हक नहीं 


जुदाई का वक्त हमे बेकरार करता है 
हमारे हालत हमे मजबूर करता है
ज़रा हमारी आंखे तो पद लो हम खुद 
कैसे कहें की आपसे बहुत प्यार करते है 


अगर दुनिया मैं जीने की चाहत ना होती 
तो खुदा ने मोहब्बत बनाई ना होती 
लोग मरने की आरजू ना करते 
अगर मोहब्बत  मैं बेवफाई ना होती 


भुला के मुझको अगर तुम हो सलामत 
तो भुला के तुझको संभालना मुझे भी आता है 
नहीं है मेरी फितरत मैं ये आदत वरना 
तेरी तरह बदलना मुझे भी आता है 

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();