Romantic Love Shayari Top 20+ in Hindi best shayari

Share:


एक बार भी नहीं रोका उसने शायद उसे मेरे चले जाने का इंतजार था 
अरे सुनो वो जो नफरत होती है,ना उसके लायक भी नहीं हो तुम 

दर्द को मुस्कुराकर सहना क्या सिख लिया सब ने सोंच लिया की हमें 
तकलीफ नहीं काश तू लौट आये और कहे बस बहुत हो गया नहीं 
रहा जाता अब तेरे बिना 


किसी की हद से ज्यादा 
    फिक्र करोगे  तो 
उसकी लाइफ मैं  आपकी 
वैल्यू काम हो जाये गी 



     सोचा बताएँगे सब 
          दर्द तुमको 
पर तुम्हे तो इतना भी ना पूछे 
      की खामोश क्यू हो 


तुझसे इतना प्यार  क्यो 
           किया 
कभी कभी ये सोच के खुद 
  से नफरत हो जाती है 
               "सुनो,
 मुझे मरने से पहले ,
  तुम्हरे साथ जीना 
            है


जिनसे बात  करने की 
आदत सी हो जाती है 
अगर उसने एक दिन 
भी बात ना हो तो दिल 
उदास हो जाता है 


कैसे समझाऊ तुम्हे खुद ही 
     समझ जाओ ना
बहुत याद अति है तुम्हारी 
  आ के  गले लगाओ ना 
  


   जिंदगी मैं कभी उस 
  इंसान को मत खोना,
जो गुस्सा करके फिर खुद 
    तुम्हारे पास आये


अगर मेरे चले जाने से तू 
          खुस है 
   तो तुझे तेरी खुसी 
        मुबारक 


अब फर्क नहीं पड़ता कोई 
    साथ हो या ना हो,
मैंने अकेले चलना सीख
          लिया है   


           माफ़ करना 
माझे तुम्हारा प्यार  नहीं चाहिए,
  मुझे मेरा हस्ता खेलता दिल
          वापस कर दो 


  नहीं आता हमे दर्द 
  का दिखावा करना,
बस चुप चाप अकेले रोते 
   है और सो जाते है  


  नसीब से हारगई गये 
   वरना मोहब्बत तो 
   दोनों की सच्ची थी 


      याद रखना  
जो नसीब मैं नहीं होता,
   वो रोने से भी नहीं 
         मिलता 


रिश्ते एक दुसरे की फिक्र
  करने की लिए होते है 
एक दुसरे का इस्तेमाल 
    करने के लिए नहीं 


बहुत स्मार्ट हो गए है 
          लोग,
रिस्ता वही एक रखते है 
जहा तक मतलब होता 
             है 


किसकी हद से ज्यादा 
    केयर करोगे तो 
उसकी जिंदगी मैं आपकी 
  वैल्यू कम हो जाएगी 


रिस्ता  वही कायम रहता है
     जो दिल से शुरू हो  
        जरूरत से नहीं 



तरस आता ही मुझे अपनी 
     मासूम पलकों पर, 
  जब भीग कर कहती है 
की बस अब रोया नहीं जाता



 मैं रहूँ या ना रहूँ बस एक 
        दुआ है मेरी 
 तू खुद रहे मेरे साथ भी 



बहुत तकलीफ होती है जब 
वो सख्स नजरो से गिर जाए,
जिसे पलकों मैं बिठाये हो 



 मेरे दर्द का जरा भी उसे गम 
         नहीं होता,
 शायद इसलिए मेरे दर्द का 
  गम कभी कम नहीं होता     


जो आपसे सच मैं प्यार
          करेगा 
 वो आपके लिए कभी 
    बसी नही रहेगा 


मुझे किसी के बदल जाने 
      का गम नहीं,
   बस कोई ऐसा था 
जिससे ये उम्मीद ना  थी 


  गुस्सा सिर्फ वही 
       करता हैं 
जिन्हे आपकी परवाह 
        होती है 


इस छोटी सी जिंदगी मैं 
बड़ा सा सबका मिला है,
रिस्ता सबसे रखना पर
उम्मीद किसी से मत 

         करना 


हर बात दिल से लगाओगे
    तो रोते रह जाओगे,
     जो जैसा है,उसके 
 साथ वैसा बनना सीखो 


 कल जो तुम हजार वादे 
 करते थे पाने के लिए 
 आज क्यू बहाना ढूंढ रहे 
 हो मझे छोड़ जाने के लिए 



     किसी को 
इतना भी ना चाहो 
   की भुला ना 
       सको 


 कट जाएगी ये रात 
  यही सोचते सचते 
की क्या गलती हमारी 
  थी या तुम्हारी 


No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();